CAB , CAA Full Form In Hindi | CAA कानून क्या है ?

आज के समय में आप लोग काफी ज्यादा चर्चा में देख रहे होंगे caa full form in hindi इसके बारे में बहुत से लोग तो इसके बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानते है अगर जानते भी है तो उन्हें ठीक तरह से पूरी जानकारी नहीं है तो ऐसे में अगर आप जानना चाहते है तो आज के इस आर्टिकल में हम इस बारे में सम्पूर्ण जानकारी देंगे ताकि आप इस बारे में बढ़िया से समझ सके | और हम cab , Nrc और  caa के बारे में भी जानेगे |

सीएए CAA कानून क्या है |

ये कानून एक ऐसा कानून है जिसमे अगर आप भारत की नागरिकता लेना चाहते है तो CAA के द्वारा नागरिकता अधिनियम 1955  के तहत संशोधन किया गया है जिसके अंतर्गत पाकिस्तान ,बांग्लादेश और अफगानिस्तान के अवैध हिन्दू , सिख ,इसाई ,जैन ,बौद्ध और पारसी को नागरिकता देना प्रस्तवित हुआ है लेकिन इस देश से आये हुए अवैध  मुस्लिम नागरिको को भारत की नागरिकता नहीं दी जा सकती है |

 

 

caa full form in hindi
caa full form in hindi

CAA Full Form In Hindi

CAA का full form “Citizenship Amendment Act “होता है  जिसका हिंदी  में मतलब नागरिकता संशोधन अधिनियम होता है |

CAB का full formCitizenship Amendment Bill “होता है  |

NRC का  full formNational Register Of Citizens “ होता है

 

नागरिकता सशोधन अधिनियम भारत के संसद द्वारा पारित एक अधिनियम है जो सन 1955 अधिनियम को संशोधित किया गया और कुछ नये बदलाव किये है जिसमे एक बदलाव ये था की भारत की नागरिकता प्रदान के लिए पहले 11 वर्ष तक रहना पड़ता था जो अब कम करके 5 कर दिया गया है इसको भारतीय संसद में 11 दिसम्बर 2019 को पारित किया गया था जिसमे इसके पक्ष में  125 मत तथा 105 मत विरुद्ध में थे

जिस वजह से पक्ष का मत ज्यादा था और इस अधिनियम का बिल संसद से पास हो गया और इस विधेयक को 12 दिसम्बर को मंजूरी दे दिया गया लेकिन कुछ लोग इस से अभी भी खफा थे जिससे वजह से धरना प्रदर्शन शाहीन बाग़ में देखने को मिला | लेकिन ठीक से उन्हें caa full form in hindi  भी नहीं पता होंगा |

 

इस की शुरुआत देश की राष्ट्रीय पार्टी बीजेपी ने 2014 के चुनाव दौरान आपकी चुनावी घोषणापत्र पत्र में अत्याचार झेल रहे हिन्दू शर्णार्थियो को एक प्राकृतिक घर प्रदान करने की घोषणा की थी जिसमे बहुत से शर्णार्थियो को इसका लाभ मिला | IB के तहत इस लाभ का 30000 से अधिक शरणार्थ प्राप्त किये है |

 

नागरिकता संशोधक विधेयक 2019  क्या है ?

 

नागरिकता संशोधक विधेयक 2019 (Citizenship Amendment Bill ) दिसम्बर 2019 में लोक सभा द्वारा पारित किया गया था इस बिल का मकसद बांग्लादेश ,पाकिस्तान ,अफगानिस्तान के 6 अल्प समुदाय (हिन्दू ,सिख ,इसाई ,जैन ,बौद्ध तथा पारसी ) को भारत में नागरिकता देने को मजूरी दी गयी क्युकी वहां इन की संख्या कम है और उस देश में इन समुदाय के लोगो पर काफी ज्यादा अत्याचार और जुल्म किया जाता था |

इनका धर्म में न चाहते हुए परिवर्तन कर दिया जाता था जिस वजह से ये शरणार्थी को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता था तो ऐसे में इन लोगो को भारत में नागरिकता देने की मंजूरी प्राप्त हुए जिसे नागरिकता संशोधक विधेयक 2019 के नाम से भी जाना जाता है |

लेकिन इस अधिनयम के तहत इन 6 समुदाय में मुस्लिम को नहीं शामिल किया गया जिस वजह से बीजेपी पार्टी का काफी विरोध हुआ जिसमे बहुत सी राजनैतिक पार्टी भी शामिल थी जिस वजह से यह काफी ज्यादा चर्चा में बना रहा है और यह 126 वां संशोधक बिल है जो पास हो गया है |

 

इस अधिनियम में हुए अब तक के मुख्य बदलाव

 

  • अब तक इस अधिनियम में 7 बार बदलाव किया जा चूका है जिसमे भारत की नागरिकता लेने के लिए 11 वर्ष तक रहना अनिवार्य था जिसे अब घटाकर 6 वर्ष किया गया था लेकिन सन 2019 में 5 वर्ष कर दिया गया है |
  • लेकिन अब भारत में 2019 एक्ट के बाद OCI कार्ड होने पर भारत में कही भी यात्रा करने ,देश में काम करने और अध्धयन करने की इजाजत देता है |
  • यदि कोइ इस कार्ड का धारक गलत इस्तेमाल करता है तो उसका कार्ड निरश्त कर दिया जायेगा |यानि की आपको भारत सरकार द्वारा बनाये गये नियम का उल्लघन नहीं करना है |
  • असम ,मेघालय ,मिजोरम और त्रिपुरा के आदिवाशियो को नागरिकता का प्रावधान लागू नहीं होगा |
  • नागरिकता संशोधक अधिनियम 2019 के तहत भारत में कही भी रहने और कार्य करने की स्वतंत्रता दे दी गयी है

तो ये तो कुछ मुख्य बदलाव जो  इस नागरिकता अधिनियम में अब तक हुए है |caa full form in hindi

तो उम्मीद करते है आप समझ गये होंगे caa full form in hindi  क्या है और इस अधिनियम में क्या क्या बदलाव आये है और कुछ लोग इसके विरोध क्यों थे |तो अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो अपने दोस्तों को भी इसके बारे में जरूर शेयर करे ताकि वो समझ पाए CAA kya hai और इससे देश के लोगो को क्या फायदा है |

इसे भी पढ़े 

 BDO ऑफिसर कैसे बने |

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Comment