BA क्या है इसके क्या है फायदे

नमस्कार दोस्तों आप सभी का स्वागत है www.aaosikheindia.com पर और मैं हूं वैभव श्रीवास्तव और आपको लेकर चलता हूं इंटरनेट से जुड़ी कुछ बेहतरीन खबरों की तरफ और बताते हैं B.A के बारे में व इसकी पूरी जानकारी आपको देते हैं।

तो सबसे पहले जब आप हाई स्कूल के बाद इंटरमीडिएट में जाते हैं तो सबसे बड़ी प्रॉब्लम यह होती है कि इंटरमीडिएट के बाद क्या करें ग्रेजुएशन करें पॉलिटेक्निक करें आईटीआई करें कि ऐसा क्या करें जिससे आने वाले समय में कोई दिक्कत ना हो तो आज यदि आज के समय में देखा जाए तो यदि आप किसी सरकारी नौकरी के लिए तैयारियां करते हैं तो उसमें सबसे पहले ग्रेजुएशन की मांग होती है यदि आप ग्रेजुएट नहीं है तो आप सरकारी नौकरी का एग्जाम नहीं दे पाएंगे तो आइए जानते हैं की इंटरमीडिएट के बाद बीए एक ऐसा सरल व सटीक ऑप्शन है जिसकी वजह से आप आसानी से तैयारी भी कर सकते हैं और ग्रेजुएशन भी कंप्लीट कर सकते हैं।
B.A करने के प्रमुख फायदे
यदि आप b.a. कर लेते हैं तो आने वाले समय में आप ग्रेजुएट कहलाएंगे जिसकी वजह से आप आसानी से सरकारी नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं वह एग्जाम आसानी से दे सकते हैं यदि आप बीए करते हैं तो तो आपके पास एक ऐसी डिग्री होगी जिसमें आप आसानी से 10 से ₹15000 आराम से कमा सकते हैं लेकिन इसके लिए आपके पास स्किल्स अच्छी होनी चाहिए।
बीएफ 3 साल का होता है जिसमें 1 साल आपका बहुविकल्पीय क्वेश्चन आते हैं जिसे आप मल्टीपल चॉइस क्वेश्चन भी बोल सकते हैं इसमें आपको एक ओएमआर सीट मिलेगी और क्वेश्चन पेपर मिलेगा बस आपको इसमें बॉल पेन से जो आंसर हो उस गोलाई में बॉल पेन से गोला कर देना है लेकिन 2 साल आपका बहुविकल्पी के साथ-साथ अति लघु उत्तरीय प्रश्न लघु उत्तरीय प्रश्न यह सभी प्रश्नोत्तर आपको क्वेश्चन पेपर में मिलेंगे यह 2018 से लागू हुआ।
B.a. में आपको ज्यादा पढ़ाई में प्रॉब्लम नहीं होनी चाहिए क्योंकि यह अन्य जैसे बीएससी बी कॉम से काफी सरल होता है यदि आप इसे बिना टेंशन के पड़ेंगे तो आप आराम से पास हो सकते हैं b.a. करने के लिए बहुत ज्यादा टेंशन लेने की कोई जरूरत नहीं होती है।

B.A करने के लिए क्या जरूरी है?
B.a. करने के लिए तो आपके पास इंटर की डिग्री होना बहुत आवश्यक है यदि आपके पास इंटरमीडिएट की डिग्री नहीं होती है तो आप बैचलर ऑफ आर्ट्स b.a. नहीं कर सकते इंटरमीडिएट में आप चाहे थर्ड डिवीजन हो या सेकंड डिवीजन इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है बस आपके पास इंटरमीडिएट की डिग्री होनी चाहिए जिससे आप बीए आसानी से कर सकते हैं।

B.A के बाद क्या करें?
B.a. करने के तत्पश्चात सभी के मन में होता है कि बीए के बाद अब क्या करें तो बी जे के बाद आप अपने तैयारी भी कर सकते हैं जैसे बैंक एसएससी सिविल सर्विसेस और भी बहुत सारी तैयारियां आप आसानी से कर सकते हैं और सरकारी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं लेकिन यदि आप बीए के बाद पढ़ाई करना चाहते हैं तो आप m.a. कर सकते हैं या B.Ed कर सकते हैं b.a. एम ए करने के बाद आप आसानी से किसी भी स्कूल में आराम से 10 से 15000 आसानी से कमा सकते हैं।

B.A में क्या विषय लें?
सबसे बड़ी कन्फ्यूजन या होती है कि बी ए में कौन सा विषय ले जिससे ज्यादा दिक्कत है ना हो पढ़ने में तो आपको बता दें जिस विषय में आप को ज्यादा नॉलेज हो वह भी से आप आसानी से ले सकते हैं इसमें आपके पूरे 5 विषय होते हैं जैसे हिंदी अंग्रेजी राजनीति विज्ञान इतिहास व अर्थशास्त्र यह पांचो विषय मैं जो आप चाहिए आसानी से ले सकते हैं लेकिन इन पांच विषयों में भी बहुत सारे पाठ्यक्रम है जैसे,

कला पाठ्यक्रम में स्नातक
 सामाजिक कार्य में ऑनर्स के साथ
 कला स्नातक
  मनोविज्ञान
 आतिथ्य और पर्यटन
 वैदिक ज्योतिष
 मलयालम
 पत्रकारिता
 सैन्य अध्ययन 
 संगीत की विद्या 
 प्राचीन इतिहास 
 एग्रो सर्विसेज 
 अरबी 
 मनुष्य जाति का विज्ञान 
 बाल कल्याण और सामाजिक अध्ययन 
 जैव सांख्यिकी 
 छायांकन 
 सिनेमा और फोटोग्राफी 
 वाद्य संगीत 
 अंक शास्त्र 
 दर्शन 
 ओरिएंटल कल्चर 
 राजनीति विज्ञान 
 शारीरिक शिक्षा 
 जनसंपर्क 
 सार्वजनिक प्रशासन 
 ग्रामीण उद्योग 
 ग्रामीण विकास 
 नागरिक सास्त्र 
 सामाजिक विज्ञान 
 वोकेशनल स्टडीज 
 पर्यटन अध्ययन 
 शिक्षा 
 योग 
 पर्यटन प्रबंधन 
 देवत्व 
 संचारी अंग्रेजी 
 धर्मशास्र  
 अर्थशास्त्र 
 कंप्यूटर विज्ञान 
 शिक्षा 
 इतिहास 
 भूगोल 
 विज्ञापन और ब्रांड प्रबंधन 
 एप्लाइड मनोविज्ञान में ऑनर्स
यह सभी पाठ्यक्रम ऐसे हैं जो कि पूरे भारत में उपलब्ध हैं अलग-अलग विश्वविद्यालयों में अलग-अलग विषय उपलब्ध होते हैं तो आप आसानी से जो भी विषय चुनना चाहते हैं वह विषय लेकर के आप आसानी से ग्रेजुएशन कर सकते हैं और आगे की पढ़ाई जारी कर सकते हैं।
आपको यह जानकारी पसंद आई होगी पसंद आई हो तो लोगों में इस को शेयर करिए और नीचे कमेंट करके बताइए आपका जानकारी कैसे लगी तो मिलते हैं ऐसे ही बढ़िया से आर्टिकल में धन्यवाद

Author Details


सौरभ श्रीवास्तव आओ सीखें इंडिया के फाउंडर हैं इन्होंने ही इस वेबसाइट की शुरुआत 2018 में की थी इन्हें टेक्नोलॉजी के बारे में जानकारी रखने और लिखने में मजा आता है जिस वजह से इन्होंने इस आओ सीखें इंडिया की शुरुआत कि आप इनसे ईमेल के माध्यम से जुड़ सकते हैं और इनका एक यूट्यूब चैनल है जिसमें यह ब्लॉग्स अपलोड करते हैं एक बार चैनल को जरूर विजिट करें धन्यवाद
                                                                                                   आपका प्यारा
                                                                                    सौरभ श्रीवास्तव ब्लॉगर एंड यूट्यूबर

Leave a Comment

0 Shares
Share
Tweet
Share
Pin